300+ Aa ki matra ke shabd और 50+ vakya

तो हाज़िर है एक बार फिर मात्राओं के खेल में खोजाने को और इस बार हम लाये है 300+ Aa ki matra ke shabd और 50+ Aa ki matra wale vakya भरपूर मज़े के साथ। हम ज्यादा वक़्त इंतज़ार नहीं कर पाते आपको दिलचस्प समझ से दूर रख के इसलिए समय समय पर आपके लिए लेख लाते रहते है।

मात्राओं में अधिक रुचि रखते है तो नीचे दिए लेख को न नहीं कह पाएंगे:
150+ Bade u ki Matra ke Shabd
200+ A ki Matra Wale Shabd

Aa ki matra ke shabd

चलो शुरू करते हैं:

Aa ki matra ke shabdo की सूची

अँधेराहिंदुस्तान विश्राम आम दूल्हा 
अनदेखा प्यारी कचरा गायिका महंगा 
अपना संज्ञा पत्तिया करेला हीरा
आकाशमाता कानकृष्णा बकरा
इच्छाकहा क्या चश्मा सुनार 
उछालतामानव गुजरात अनुवाद  नारा 
उजाला महाराष्ट्र कार्य किनारा मादा 
कालाजिज्ञासा पता निराशा फेका
किसीका हसताखबरदार बर्बाद गुलाम 
कूदता इंसान मराठा विवादयुवराज 
कोना मुस्कुराहट तैयार संसार नालायक 
खिड़किया भारत सहायता स्वार्थ शादी
गोरासोगया शर्मा आशा रेलगाड़ी 
घाना रुकागिलास शिवाराक्षस 
चकला हल्का काजल साल आमला
चमकदार अकेला नाम बंगाल राजा 
चमकीला शाखा अंजानकेरेलाराज्य
चुराना पहाड़ संवाद ध्यान चालीसा 
चूल्हा हसातागाय शंका रानी 
चौकन्ना लहरातासुरमा सलाखे मदिरा 
जाएंउड़ान हिलना कोनसा मोटाई 
जाना माखन तूफान ख़राब आग 
जीता शक्तिया आकाश धब्बा शातिर 
जोड़ना काबुलविज्ञानहथियार वायु 
ज्ञानकोशपलायनमुखौटा भयानक गहराई 
तारीफ़ किताब ताकत पर्यावरण दीवार
तोडनाघायलसहानुभूतिअन्धकार वर्तमान
दरवाज़ा अफ्रीका सुरक्षा अथवा भालू 
दांतदानवीर मित्रता काटना जूता 
दादाजीपानी मेवामटका मात्रा 
दादीजी आजा अविनाश भोलेनाथपालतू 
देवतापंजाब क्रिया रास्ता ज़्यादा 
धमाका गिराया भाषा सीढिया अमावस्या 
नक्शा कढ़ाई एकादशी सावधान अभिलाषा 
पत्रिका खिलखिलाताखारा मान्यता स्वामी 
पराया अँधा सागर केला सोना
परिभाषा बोलाजितना चाशनी हमला 
प्रसारितअस्पतालगला भला पाताल
प्रामाणिक कारणलगाया सर्वनाश भूतकाल
बनाना जुलाई शास्त्रों तलवार तोफा
बाज़ू प्रयोगशाला दुर्घटना धन्यवाद चौपाई
ब्रम्हाण सपोला कलाकृति पैंतालीसअमेरिका 
ब्राह्मण रुलाता चूहा विशवास विलाप
भूलना नाचो बूढ़ा नखरेवाला अखिया 
मटमैलामुद्रा रेखा कर्नाटक सिंघासन 
माँ बतियाना काम डब्बा चालाक 
मुकाबला राहुल अनसुना आया डरावने
याद्दाश अंजना सेवाठेकेदार चेहरा 
रिश्तानाकमहाभारत घोडापतीला
रिश्तेदार प्यास गाडी चरखा अनार
रुद्राक्ष भटकता चीतःनाराज़ प्रयास 
विकासकाबिल दूकान छाता शिकारी 
विशालभागा लातनारायण कौआ 
शिक्षा दाल एकाएक चालीस यमराज 
संध्याबेटाबाबा बच्चा दाम 
सभा हवाईतमाशा आप चौड़ाई 
सागरपिता हाथवासुदेव गधा
सींचा मुस्कुराना चाय सुनसान होशियार 
सौतेला आँखमहानढीला चांदी 
स्थापना प्यारा सुनाओ गायक अनोखा 

50+ Aa ki matra wale vakya

राज विद्यालय जाने के लिए तैयार होजाओ। 
मेरे पास कांच के 5 गिलास है। 
मानवजाति का सबसे बड़ा दुश्मन है उसका अहंकार। 
आज आकाश में प्रदुषण की मात्रा काम है। 
चोर मुखौटा पहन कर भाग गया। 
दरवाज़े पे मेहमान है जाकर खोल आओ। 
पंजाब बहुत सुन्दर राज्य है। 
संज्ञा की परिभाषा क्या होती है?
विशवास दो लोगो को एक बंधन में जोड़ता है। 
हमारी हिंदी की पुस्तिका चालीस पन्नो की है। 
शिक्षा जितनी एकत्रित करो उतनी काम है। 
मुस्कुराने से सेहत अछि रहती है। 
मेरी आँख में धुल चली गयी। 
राहुल के गुरुदेव महान है। 
कोयल का गीत बड़ा प्यारा होता है। 
लोग मेरे मित्र की लम्बी नाक का मज़ाक उड़ाते है। 
अक्षय को प्यास लग रही है। 
सदैव अपने माता पिता का सम्मान करो। 
सूखी पत्तिया जल्दी आग पकड़ लेती है। 
मनुष्य की इच्छाये कभी ख़त्म नहीं होती। 
मुझे करेला बिल्कुल पसंद नहीं। 
भारत को हिंदुस्तान भी कहा जाता है। 
चलो नदी किनारे चलकर विश्राम करते है। 
जुलाई के महीने में सबसे ज़्यादा गर्मी पड़ती है। 
सर पे चोट लगने के कारण रोहन की यादाश्त कमज़ोर होगयी। 
चीतः सबसे तेज़ भागने वाले जानवरो में से एक है। 
चांदी  के बर्तन महंगे होते है। 
बिस्तर के निचे चूहा घुस गया। 
दादाजी को बच्चो का खिलखिलाता चेहरा बहुत प्रिय है। 
कढ़ाई  में सब्ज़ी गर्म करले अजय। 
पुराने ज़माने में रेलगाड़ी कोयले से चलती थी। 
तुम्हारे हाथो में ये चमकीला पदार्थ क्या है?
कलाकार की कलाकृति पे संदेह नहीं करना चाहिए। 
किसी भी परायी चीज़ को हाथ लगाने से पहले सोचना चाहिए। 
मेरे हाथ से मटका नीचे गिर कर टूट गया। 
दादाजी चलो सैर पे चलते है। 
मेरे मित्रो ने पेड़ से फल चुराए। 
हीरे बहुत ही चमकदार होते है। 
गुजरात के लोगो को मीठा बहुत पसंद होता है। 
मैंने नया चश्मा खरीदा। 
रमन की माँ उससे बहुत प्यार करती है। 
हर्ष गेंद को हवा में उछाल। 
अँधेरा होने से पहले घर पहुंचना ज़रूरी है। 
मेरे पिता ने मेरी गलतियों को अनदेखा करदिया। 
मुझे अनुवाद की प्रतियोगिता बहुत प्रिय है। 
घर के आँगन में मादा सांप पायी गयी। 
किसीका हक़ नहीं बनता की वो तुम्हे परेशान करे। 
तेज़ हवा के कारण खिड़किया खड़खड़ा रही है। 
हम पहाड़ी इलाको में घूमने जा रहे है। 
हमेशा ध्यान लगा कर पढाई करनी चाहिए। 

Leave a Comment